Suvichar Shayari Anmol Vachan Image निगाहों में मंज़िल थी

Suvichar Shayari Anmol Vachan Image Wallpaper Whatsapp Facebook
Suvichar Shayari Anmol Vachan Image निगाहों में मंज़िल थी
Nigaho Mein Manzil Thi
Gire Aur Gir Kar Sambhalte Rahe
Hawaon Ne Bahut Koshish Ki
Magar Chirag Aandhiyon Mein Bhi Jalte Rahe


निगाहों में मंज़िल थी
गिरे और गिर कर संभलते रहे
हवाओं ने बहुत कोशिश की
मगर चिराग आंधियों में भी जलते रहे….